बाढ़ की चपेट में प्रयागराज

Author:अंकित तिवारी

जनपद प्रयागराज के जिला मुख्यालय से ग्रामीण क्षेत्र मेजा तहसील के कई गाँव बाढ़ से प्रभावित हुए है जिसमें टोंस नदी के पास लपड़ी गंगा जमुना का जलस्तर बढ़ने से कई गाँव की फसले नष्ट हो गई है  इस बाढ़ से जो सबसे ज्यादा प्रभावित गाँव हुए है उनमें  बढ़सैता, मिलिया खुर्द, मद्रा ,परवा ,जीरा ,खटवा है और इन जैसे और भी कई  दर्जनों गाँव प्रभावित हुए है

मेजा एसडीएम विनोद  पांडेय ने खुद, अररिया खुर्द और बढ़सैता का दौरा किया जिसमें उन्होंने इंडिया वाटर पोर्टल को बताया की प्रशासन की और लोगो की सुरक्षा के लिए   रहत और बचाव कार्य के लिए 2 नाव लगाईं गई है और इसके अलावा,तमाम  बंदोबस्त भी किये गए है , क्षेत्र पर लगातार सभी अधिकारी नज़र बनाए हुए है प्रशासन आने वाली किसी भी समस्या से जूझने को तैयार है एसडीएम विनोद पांडेय ने कहा की  जिसका जितना नुकसान  हुआ है उनको उचित मुआवजा दिलाया जाएगा और पिछली बार भी जिनका बाढ़ से नुकसान हुआ था उनको भी मुआवजा दिया जाएगा।  

स्थानीय लोगो ने हिंदी वाटर पोर्टल से बातचीत में कहा की अगर यहाँ के पूल की ऊंचाई अगर बढ़ा दी  जाए तो भविष्य में बाढ़ का खतरा कम हो जाएगा इस दौरान भाजपा नेता रामशंकर निषाद ने कहा की हम कई बार प्रशासन को कह चुके है की इस पुल  की ऊंचाई बढ़ाई जाये ताकि भविष्य में ऐसे खतरों से बचा जा सके लेकिन अभी तक इसपर कोई कार्यवाही नहीं हुई और जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है