बच्चों ने पानी बर्बादी रोकने की मुहिम चलाई

Author:आईबीएन-7
Source:आईबीएन-7


भोपाल। मध्य प्रदेश में बच्चों की मुहिम ने रंग लाई है। यहां के बच्चों ने पानी की बर्बादी को लेकर बड़े-बूढों की खबर लेने का फैसला किया। इस अभियान से जुड़े सभी बच्चे आगर मालवा शाजापुर के संस्कार एकेडमी स्कूल में पढ़ते हैं। ये बच्चे अपनी पढ़ाई के साथ-साथ पानी बचाने की मुहिम भी चला रहे हैं। क्योंकि शहर में रोज़ हज़ारों लीटर पानी बेकार बह जाता है।

आगर शहर में हर दिन मुश्किल से आधा घंटा पानी की सप्लाई होती है। सप्लाई के लिए 5000 के लगभग निजी नल कनेक्शन और 500 से ज्यादा सरकारी नल कनेक्शन लगाए गए हैं। लेकिन ज्यादातर नल खराब होने की वजह से हजारों लीटर पानी नालियों में बह जाता है। ऐसे में बच्चों ने इस बर्बादी को रोकने का बीड़ा उठाया।

बच्चों ने घर-घर जाकर लोगों को समझाया और उन्हें गलती का एहसास कराया। लोगों को प्रेरित किया कि वो अपने घरों में खराब या टूटे नलकों को बदलवाएं। बच्चों ने सरकारी नलों में टोटियां लगाने की शुरुआत अपने शहर के ही वार्ड नंबर 4 से की। इसी वार्ड में नगरपालिका अध्यक्ष रहते हैं।अपनी मुहिम के तहत बच्चे नगरपालिका के अधिकारियों के पास गए और जानना चाहा कि पानी की बर्बादी बचाने के लिए आखिर वो क्या सोच रहे हैं।

अधिकारियों ने सबकुछ जल्द ठीक होने का भरोसा दिया है, लेकिन अगर अमल नहीं होता है तो बच्चे इस मुहिम में लगे रहेंगे।

Latest

मिलिए 12 हज़ार गायों को बचाने वाले गौरक्षक से

स्वस्थ गंगा: अविरल गंगा: निर्मल गंगा

पीएम मोदी का बचपन जहाँ गुजरा कभी वहां था सूखा आज बदल गई पूरी तस्वीर 

वायु प्रदूषण के सटीक आकलन और विश्लेषण के लिए नया मॉडल

गंगा का पानी प्लास्टिक और माइक्रोप्लास्टिक से प्रदूषित, अध्ययन में पता चला

शेरनी:पर्यावरण और वन्यजीव संरक्षण पर ध्यान आकर्षित करने का प्रयास

जलवायु परिवर्तन के संकट से कैसे लड़ रहे है पहाड़ के किसान

यूसर्क द्वारा “वाटर एजुकेशन लेक्चर सीरीज” के अंतर्गत “जल स्रोत प्रबंधन के सफल प्रयास पर ऑनलाइन कार्यक्रम का आयोजन

वर्ल्ड एक्वा कांग्रेस 15वाँ अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन

कोविड-19 के जोखिम को बढ़ा सकता है जंगल की आग से निकला धुआं: अध्ययन