भोपाल गैस त्रासदी के 30 साल

Author:न्यूज नेशन
Source:न्यूज नेशन, 03 दिसंबर 2014

भोपाल में आज से 30 साल पूर्व 2-3 दिसंबर 1984 को जहरीली गैस का रिसाव हुआ। जिसके कारण हजारो लोगों को अपनी जान गवांनी पड़ी। त्रासदी से प्रभावित लोगों का मानना है कि इससे निपटने के लिए 30 साल बाद भी सरकार की ओर से कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। इस गैस त्रासदी का प्रभाव आज भी जन्म लेने वाले बच्चों पर देखा जा रहा है। गैस त्रासदी से उबरने के लिए भोपाल के लोगों को न जाने कितनी यातना झेलनी पड़ रही है फिर भी सरकार इनके लिए गंभीर नहीं हो रही है। भोपाल में हुए गैस त्रासदी पर आधारित यह एपिसोड।

Latest

बीएमसी ने पानी कटौती की घोषणा की; प्रभावित क्षेत्रों की पूरी सूची देखें

देहरादून और हरिद्वार में पानी की सर्वाधिक आवश्यकता:नितेश कुमार झा

भारतीय को मिला संयुक्त राष्ट्र का सर्वोच्च पर्यावरण सम्मान

जल दायिनी के कंठ सूखे कैसे मिले बांधों को पानी

मुंबई की दूसरी सबसे बड़ी झील पर बीएमसी ने बनाया मास्टर प्लान

जल संरक्षण को लेकर वर्कशॉप का आयोजन

देश की जलवायु की गुणवत्ता को सुधारने में हिमालय का विशेष महत्व

प्रतापगढ़ की ‘चमरोरा नदी’ बनी श्रीराम राज नदी

मैंग्रोव वन जलवायु परिवर्तन के परिणामों से निपटने में सबसे अच्छा विकल्प

जिस गांव में एसडीएम से लेकर कमिश्नर तक का है घर वहाँ पानी ने पैदा कर दी सबसे बड़ी समस्या