चना चित्तरा चौगुना

Author:घाघ और भड्डरी

चना चित्तरा चौगुना।
स्वाती गेहूँ होय।।


भावार्थ- यदि चना की बोवाई चित्रा नक्षत्र में एंव गेहूँ की बोवाई स्वाती नक्षत्र में की जाये तो पैदवार चौगुनी बढ़ जाती है।