चुनौती दे रहे खुले नाले: विनायक राव टोपे

Author:गंगा सेवा मिशन
Source:गंगा सेवा मिशन
कानपुर: 4 दिसम्बर 2011- गंगा सेवा मिशन के कार्यकर्ताओं ने अध्यक्ष स्वामी आनंद स्वरूप जी के नेतृत्व में बड़े चैराहे से सरसैया घाट तक की पदयात्रा की। वहां गंगा की आरती कर गंगा को प्रदूषण मुक्त करने का संकल्प लिया। इस अवसर पर स्वतंत्रता सेनानी तात्या टोपे के पौत्र विनायक राव टोपे ने कहा कि यहां के खुले नाले सरकार को चुनौती दे रहे हैं। प्रयासों के बावजूद सरकार खुले नालों को बंद कराने में नाकाम साबित हुई है। अब हम ऐसा नहीं होने देंगे।

स्वामी आनंद स्वरूप जी ने कहा कि मां गंगा जीवन देने के साथ ही अपने बच्चों को मुक्ति प्रदान करती है। प्रदूषण के चलते इनका स्वरूप बदल गया है। गंगा को नहर और सीवर मुक्त कराना आज की जरूरत है। उन्होंने गंगा की आरती कर लोगों को गंगा को प्रदूषण मुक्त कराने का संकल्प लिया। इस अवसर पर गंगा सेवा मिशन के महामंत्री ताराचंद मोर ने कहा कि जरूरत पड़ी तो वे बलिदान देने से भी पीछे नहीं रहेंगे। गंगा आरती में राधेश्याम, सूबेदार पांडेय, मोहित पांडेय, नीलिमा सिंह, हरिशंकर शुक्ला, लक्ष्मी प्रकाश त्रिपाठी भी शामिल थे।