डीएम ने संभाली सफाई व्यवस्था की कमान

Author:पांवधोई नदी
Source:द कलयुग दर्पण, 13 मई 2010
शहर के दर्जनों मोहल्ले में निरीक्षण किया सफाई व अतिक्रमण की समस्याओं से हुए रू-ब-रूसहारनपुर, 13 मई 2010। शहर की सफाई व्यवस्था व गर्मी के मौसम में संक्रामक रोगों की रोकथाम के लिए किए जा रहे व्यवस्थाओं के निरीक्षण के लिए जिलाधिकारी आलोक कुमार खुद निकले।

जिलाधिकारी ने पठानपुरा, कमेला कालोनी, चिलकाना रोड, मछियारों का चौक, मिर्चीवाली गली, पुराना मंडी, आजाद कालोनी, गोल कोठी आदि क्षेत्र का निरीक्षण किया। इस मौके पर उन्होंने पठानपुरा पर गली एवं सड़क पर बंधी हुई गाय एवं भैंस बांधकर डेयरी चला रहे अब्दुल समद को सार्वजनिक जगह तुरंत खाली किए जाने के निर्देश दिए। वहीं अम्बाला रोड पर अग्निशमन केन्द्र के पास लगी रेता को तुरंत हटाया तथा आग लगने पर उन पर जुर्माना किए जाने तथा ट्रैक्टर ट्राली को जब्त किए जाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी निरीक्षण के दौरान भटियारो का चौक, इस्लामिया इंटर कालेज, मिर्चीवाली गली में कूड़ा न उठाने व नालों पर अवैध अतिक्रमण होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए तत्काल रूप से कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने ज्यादा आबादी वाले स्थानों तथा लम्बी गलियों पर प्रतिदिन सफाई किए जाने आदेश दिए। चिलकाना रोड, जैनबाग पर नालों पर से पूरी तरह से अतिक्रमण हटाने के निर्देश देते हुए नाले से निकले कूड़े व मलवे को भी साथ-साथ हटाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने धोबीघाट, पांवधोई नदी की सफाई तत्काल रूप से शुरू करने के निर्देश देते हुए तत्काल 50 सफाई कर्मी लगाए जाने व घाटों के सौंदर्यकरण किए जाने के लिए जन सहयोग लिए जाने के निर्देश दिए।

मूल अखबार की खबर देखने के लिए अटैचमेंट डाइनलोड करें।

1.jpg
56KB

Latest

बीएमसी ने पानी कटौती की घोषणा की; प्रभावित क्षेत्रों की पूरी सूची देखें

देहरादून और हरिद्वार में पानी की सर्वाधिक आवश्यकता:नितेश कुमार झा

भारतीय को मिला संयुक्त राष्ट्र का सर्वोच्च पर्यावरण सम्मान

जल दायिनी के कंठ सूखे कैसे मिले बांधों को पानी

मुंबई की दूसरी सबसे बड़ी झील पर बीएमसी ने बनाया मास्टर प्लान

जल संरक्षण को लेकर वर्कशॉप का आयोजन

देश की जलवायु की गुणवत्ता को सुधारने में हिमालय का विशेष महत्व

प्रतापगढ़ की ‘चमरोरा नदी’ बनी श्रीराम राज नदी

मैंग्रोव वन जलवायु परिवर्तन के परिणामों से निपटने में सबसे अच्छा विकल्प

जिस गांव में एसडीएम से लेकर कमिश्नर तक का है घर वहाँ पानी ने पैदा कर दी सबसे बड़ी समस्या