दिल्ली जल बोर्ड से लड़ रहे हैं शंभू सिंह

Author:आईबीएन-7
Source:आईबीएन-7


नई दिल्ली। सिटीजन जर्नलिस्ट शंभू सिंह दिल्ली में ताहिरपुर के कुष्ठ आश्रम में रहते हैं। इस बस्ती में रोजाना पानी आता नहीं है और जब आता है तो मुंह चिढ़ाता है। जो पानी दिल्ली जल बोर्ड यहां सप्लाई कर रहा है वो बेहद गंदा है। कुष्ठ आश्रम के आसपास की 15 हजार की आबादी पिछले दो महीनों से जिस पानी का इस्तेमाल रोजमर्रा के कामों में कर रही है वो जहर से कम नहीं है, लेकिन मजबूरी ऐसी है कि जान-बूझकर इस जहर के घूंट को पीना पड़ रहा है।

शंभू सिंह ने खराब पानी की सप्लाई के बारे में जल बोर्ड के ऑफिस में पता किया, तो कयास लगाकर उन्हें बताया गया कि पाइपलाइन में कहीं फाल्ट हो गया है जिसकी वजह से किसी नाले का गंदा पानी, पीने के पानी के साथ मिलकर लोगों तक पहुंच रहा है। इन लोगों ने कई बार अधिकारियों से फाल्ट सुधारने की गुजारिश की। उन्हें आश्वासन तो दे दिए गए लेकिन कार्रवाई कुछ भी नहीं की गई।

शंभू सिंह ने अपने इलाके की समस्या सुलझाने के लिए हस्ताक्षर अभियान चलाया। वे जल्द ही दिल्ली जल बोर्ड के बड़े अधिकारियों को ये हस्ताक्षर सौंपेंगे। शंभू इलाके के असिस्टेंट इंजीनियर से मिलने भी गए, लेकिन वो उनसे मिलने तक को तैयार नहीं है। अफसरों का रवैया चाहे कुछ भी हो लेकिन शंभू ने ठान ली है कि वो किसी भी कीमत पर लोगों को साफ पानी मुहैया कराकर ही मानेंगे।

Latest

मिलिए 12 हज़ार गायों को बचाने वाले गौरक्षक से

स्वस्थ गंगा: अविरल गंगा: निर्मल गंगा

पीएम मोदी का बचपन जहाँ गुजरा कभी वहां था सूखा आज बदल गई पूरी तस्वीर 

वायु प्रदूषण के सटीक आकलन और विश्लेषण के लिए नया मॉडल

गंगा का पानी प्लास्टिक और माइक्रोप्लास्टिक से प्रदूषित, अध्ययन में पता चला

शेरनी:पर्यावरण और वन्यजीव संरक्षण पर ध्यान आकर्षित करने का प्रयास

जलवायु परिवर्तन के संकट से कैसे लड़ रहे है पहाड़ के किसान

यूसर्क द्वारा “वाटर एजुकेशन लेक्चर सीरीज” के अंतर्गत “जल स्रोत प्रबंधन के सफल प्रयास पर ऑनलाइन कार्यक्रम का आयोजन

वर्ल्ड एक्वा कांग्रेस 15वाँ अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन

कोविड-19 के जोखिम को बढ़ा सकता है जंगल की आग से निकला धुआं: अध्ययन