डल लेक : कहानी एक झील की

Author:राज्यसभा टीवी
Source:राज्यसभा टीवी

गर फिरदौस बररुए ज़मीनस्त, हमिअस्तो हमिअस्तो हमिअस्त!! अगर धरती पर कहीं स्वर्ग है तो यहीं है, यहीं है, यहीं है। ये बात हम और आप बचपन से सुनते आएं हैं कश्मीर के लिए । कश्मीर की सरजमीं की शान है डल झील। लेकिन डल झील जिसने सदियों से यहां की परंपरा यहां की संस्कृति को सहेज कर रखा। डल झील जिस पर न जाने कितनी फिल्मों की शूटिंग हुई, डल झील जो कितनी ही खूबसूरत जिंदगियों के शुरू होने की सरमाया रही लेकिन आज वही अपने ही अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है। समुद्र तल से 1500 मीटर की ऊंचाई पर मौजूद डल एक प्राकृतिक झील है और तकरीबन 50,000 साल पुरानी है। बर्फ के गलने या बारिश की एक-एक बूंद इसमें जमा होती है। अपनी खूबसूरती के लिए दुनिया भर में मशहूर डल झील के वजूद पर हर रोज खतरा बढ़ता जा रहा है। प्रदूषण और बेहतर रखरखाव न होने की वजह से डल की सूरत बिगड़ रही है। सरकार के साथ-साथ स्थानीय लोगों की उदासीनता इसकी बड़ी वजह है।