एक पाख दो गहना

Author:घाघ और भड्डरी

एक पाख दो गहना।
राजा मरै कि सहना।।


शब्दार्थ- सहना- अधीनस्थ राजकर्मचारी। नगर प्रधान।

भावार्थ- यदि एक पक्ष में दो ग्रहण लगे तो राजा या शाहंशाह में से कोई एक मरेगा।