गंगा बचाने की मुहिम

Author:आईबीएन-7
Source:आईबीएन-7, 17 मई 2012





लाखों करोड़ों लोगों को अपना पानी पिलाने वाली नदी गंगा कहीं बांध बनाकर, तो कहीं नाले के गंदे पानी को सीधे गंगा में गिराकर उसे जहरीला बनाया जा रहा है। जिस गंगा में लोग अपने पापों को धोते थे आज वहीं गंगा अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है। गंगोत्री से लेकर गंगा सागर तक गंगा प्रदूषित होती जा रही है। जहरीली होती जा रही गंगा को बचाने के लिए सरकारी तौर पर करोड़ों रुपये खर्च होने के बावजूद हालात बिगड़ते ही जा रहे हैं फिर भी कुछ लोग हैं जो निजी तौर पर गंगा को बचाने की हर संभव कोशिश कर रहे हैं।

Latest

बीएमसी ने पानी कटौती की घोषणा की; प्रभावित क्षेत्रों की पूरी सूची देखें

देहरादून और हरिद्वार में पानी की सर्वाधिक आवश्यकता:नितेश कुमार झा

भारतीय को मिला संयुक्त राष्ट्र का सर्वोच्च पर्यावरण सम्मान

जल दायिनी के कंठ सूखे कैसे मिले बांधों को पानी

मुंबई की दूसरी सबसे बड़ी झील पर बीएमसी ने बनाया मास्टर प्लान

जल संरक्षण को लेकर वर्कशॉप का आयोजन

देश की जलवायु की गुणवत्ता को सुधारने में हिमालय का विशेष महत्व

प्रतापगढ़ की ‘चमरोरा नदी’ बनी श्रीराम राज नदी

मैंग्रोव वन जलवायु परिवर्तन के परिणामों से निपटने में सबसे अच्छा विकल्प

जिस गांव में एसडीएम से लेकर कमिश्नर तक का है घर वहाँ पानी ने पैदा कर दी सबसे बड़ी समस्या