गंगा के लिए सबको करना होगा प्रयास : अविमुक्तेश्वरानंद

Author:दैनिक जागरण
Source:दैनिक जागरण, 17 जनवरी 2012
अविमुक्तेश्वरानंदअविमुक्तेश्वरानंदजागरण संवाददाता, इलाहाबाद : जीवनदायिनी गंगा को उनके वास्तविक स्वरूप में लाकर ही भारतीय संस्कृति की रक्षा की जा सकती है। इसके लिए हर इंसान को अपने स्तर से प्रयास करना होगा। सामूहिक प्रयास से ही गंगा प्रदूषण मुक्त होंगी। यह विचार गंगा सेवा अभियानम् के संयोजक स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने सोमवार को माघमेला क्षेत्र स्थित शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के शिविर में भक्तों को संबोधित करते हुए कही।

शिविर में चल रही 'अविच्छिन्न गंगा सेवा तपस्या' के बारे में स्वामी जी ने कहा कि सरकार ने गंगा को राष्ट्रीय नदी घोषित तो कर दिया, परंतु उनकी स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ। इसको लेकर हमें खुद में जागरुकता लानी होगी। अगर हर इंसान एक घंटा गंगा को देने लगे तो काफी समस्या अपने आप ही दूर हो जाएगी। अन्न त्यागकर अविच्छिन्न तपस्या पर बैठे ज्ञानस्वरूप स्वामी सानंद ने कहा कि गंगा की वर्तमान स्थिति के लिए काफी हद तक हम स्वयं जिम्मेदार हैं। इसके लिए स्वयं के अंदर जागरुकता लानी होगी। अविच्छिन्न तपस्या के माध्यम से लोगों को जागरूक करने के साथ उनके कर्तव्य का बोध कराना है।

Latest

भारत में क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस

वायु प्रदूषण कम करने के लिए बिहार बना रहा है नई कार्ययोजना

3.6 अरब लोगों पर पानी का संकट,भारत भी प्रभावित: विश्व मौसम विज्ञान संगठन

अब गंगा में प्रदूषण फैलाना पड़ेगा महंगा!

बीएमसी ने पानी कटौती की घोषणा की; प्रभावित क्षेत्रों की पूरी सूची देखें

देहरादून और हरिद्वार में पानी की सर्वाधिक आवश्यकता:नितेश कुमार झा

भारतीय को मिला संयुक्त राष्ट्र का सर्वोच्च पर्यावरण सम्मान

जल दायिनी के कंठ सूखे कैसे मिले बांधों को पानी

मुंबई की दूसरी सबसे बड़ी झील पर बीएमसी ने बनाया मास्टर प्लान

जल संरक्षण को लेकर वर्कशॉप का आयोजन