घातक हो सकता है ऐसे पानी पीना

घातक हो सकता है ऐसे पानी पीना,फोटो:doulton

ख़राब चीज़ों को बाहर निकालने से लेकर हमारे जोड़ों को चिकनाई देने तक, शरीर के कई महत्वपूर्ण कार्यों के लिए पानी आवश्यक है।एक दिन में आठ 8-औंस गिलास पीने की सलाह दी जाती है, जो प्रति दिन लगभग 2 लीटर के बराबर होता है।

हालांकि, पानी का अधिकतम लाभ उठाने के लिए आप पानी कैसे और कब पीते हैं, यह महत्वपूर्ण है। पानी पीते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

पानी हमेशा बैठ कर पिये। यदि आप खड़े रहकर पानी पीते हैं, तो यह बिना किसी फिल्टर के बड़ी ताकत के साथ सीधे आपके पेट में चला जाएगा। फिर पानी में मौजूद अशुद्धियां मूत्राशय में जमा हो सकती हैं और यह आपके गुर्दे को नुकसान पहुंचा सकती हैं।

इसके अलावा, यदि आप खड़े होकर पानी पी रहे हैं, तो यह वास्तव में सिस्टम के माध्यम से तेजी से यात्रा करेगा, जो आपके फेफड़ों और हृदय के कार्यों को बाधित कर सकता है।

खड़े होकर पानी पीने से आपकी नसें तनाव की स्थिति में आ सकती हैं, जिससे गठिया और जोड़ों को नुकसान पहुंच सकता है  विशेषज्ञों का यह भी सुझाव है कि हमें धीरे-धीरे पानी पीना चाहिए क्योंकि इससे शरीर पोषक तत्वों को बेहतर तरीके से फ़िल्टर कर पाता है और पानी को उन विशिष्ट क्षेत्रों में निर्देशित करता है जिन्हें पोषण की आवश्यकता होती है।

पानी पीते समय कुछ और बातों से बचना चाहिए  

एक बार में भारी मात्रा में पानी नहीं पीना चाहिए। इससे हवा और भोजन नली में ऑक्सीजन की कमी हो सकती है, जो संभावित रूप से हृदय की समस्याओं और फेफड़ों के मुद्दों को जन्म दे सकती है।भोजन करते समय और भोजन के तुरंत बाद पानी पीने से बचें। ऐसा इसलिए है क्योंकि पानी शरीर के प्राकृतिक रस को पतला कर सकता है जो पाचन में सहायता करते हैं।

व्यायाम करते समय बहुत अधिक पानी न पियें क्योंकि यह आपके शरीर में सोडियम की मात्रा को कम कर सकता है और आपके प्राकृतिक इलेक्ट्रोलाइट्स को समाप्त कर सकता है, जिससे थकान हो सकती है। अगर आपका गाल सूख रहा है तो सिर्फ कुछ छोटे घूंट ही पानी पीकर कुछ समय के लिए प्यास बूझा सकते है।