गोवा के कृषि मंत्री ने बता दिया गृहमंत्री अमित शाह कितना महंगा पानी पीते है

Author:शिवेंद्र

गृहमंत्री अमित शाह, फोटो:financialexpress

गोवा के कृषि मंत्री रवि नाइक ने पानी को लेकर देश के गृहमंत्री अमित शाह पर बड़ी बात कही है। दक्षिण गोवा के पोंडा में कृषि के लिए प्रशासनिक भवन के उद्घाटन के दौरान रवि नाइक ने कहा  " जब अमित शाह  फरवरी में हुए विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान यहां  आये थे  तब उन्हें  पानी पीने के लिए  हिमालय (ब्रांड) की 850 रुपये की ‘मिनरल वाटर’ बोतल दी गई थी ।  जिसे मापुसा जो लगभग  पणजी से लगभग 10 किमी दूर है, से लाया गया था । वही फाइव स्टार लग्जरी होटलों में मिनरल वाटर की बोतलें भी 150 रुपये से 160 रुपये के बीच आती हैं। इस तरह पानी भी महंगा होता जा रहा है ।

उन्होंने कहा कि

राज्य में हर मौसम में करीब 120 इंच के आस पास  बारिश होती है, इसलिए पानी को संरक्षित करने में मुश्किल नहीं होगा। उन्होंने कहा, सरकार पूरे राज्य में जहां भी पहाड़ हैं, वहां बांध बना सकती है और पानी जमा कर सकती है।ताकि भविष्य में लोग पानी के लिए आपस में न लड़े।  

 

इससे पहले नाइक ने गोवा में जमा हुए वर्षा जल को ईंधन के बदले खाड़ी देशों में निर्यात करने की पैरवी की थी और कहा था कि पानी को संरक्षित करने की आवश्यकता है नहीं तो पानी आधारित उत्पाद सोने और हीरे के समान मूल्यवान हो जायेगें।  

नाइक ने इसलिए इस महंगी खरीद का उल्लेख किया ताकि गोवा में वर्षा जल संचयन पर जोर दिया जाये ताकि भविष्य में पानी दुर्लभ और कीमती संसाधन न बन जाए।  

वही पिछले महीने कृषि मंत्री द्वारा कहा गया था कि पानी का निजीकरण करने की जरूरत है और देश भर में बांध बनाने के लिए निजी कंपनियों को लगाया जाना चाहिए और ईंधन के बदले खाड़ी देशों को पानी का निर्यात किया जाना चाहिए।

गोवा में एक आकड़े के अनुसार औसत शहरी परिवार की पानी की खपत 170 लीटर प्रति व्यक्ति / दिन है और ग्रामीण परिवारों के लिए,यह प्रति व्यक्ति/ दिन लगभग 70 लीटर के आस पास है। यानि शहर में चार लोगों का परिवार  लगभग 21,000 लीटर पानी उपयोग करता है वही  ग्रामीण इलाकों में चार लोगों के परिवार के द्वारा लगभग 8,500 लीटर व 8.5 घन मीटर प्रति माह उपयोग किया जाता है।    

ऐसे में पानी की अधिक बर्बादी रोकने और उसके बचत के लिए गोवा सरकार 1 सितंबर को एक ऐसी योजना लेकर आने वाली है जिसमे अगर 4 लोगों का परिवार 16,000 लीटर तक पानी का उपयोग करता है तो उनसे पानी का बिल नहीं लिया जायेगा अगर 16,000 लीटर से अधिक  इसका उपयोग होता है  तो  उपभोक्ता  से   3.5 रुपये से 15 रुपये प्रति घन मीटर की दर से शुल्क लिया जायेगा।