इंद्रधनुष कैसे बनता है ? 

Author:शिवेन्द्र

सूर्य के प्रकाश की कोई किरण जब प्रिज्म में से गुजरती है। तो आसमान से  7 रंगों वाले इंद्रधनुष की उत्पति होती है। इसे ही प्रकाश का डिफ्लेशन भी कहते है। इंद्रधनुष में करीब 7 रंग होते है। जो इस प्रकार है  बैंगनी, नीला, आसमानी, हरा पीला, नारंगी लाल । इंद्रधनुष अक्सर बारिश के वक्त में ही दिखता है। हल्की हल्की बूंदों के समय अगर धूप आये तो इंद्रधनुष दिखाई देता है। इंद्रधनुष हमे तब दिखाई देता है जब सूरज हमारे पीछे और बारिश आगे  हो रही होती है। 

कभी-कभी हमें आसमान में दो इंद्रधनुष भी दिखाई  देते है। । एक ही जगह मौजूद बूंदों के संपर्क में आने से करीब 2 इंद्र धनुष  दिखाई देते है। पहले इंद्रधनुष से रंगीन रोशनी जैसे ही सफेद होती है उसी दौरान उसका संपर्क दूसरी बूंदों से हो जाता है  और प्रकाश अलग अलग रंगो में बिखर जाते है। लेकिन उसके रंग उल्टे क्रम में दिखते है।