जल मंथन-3 (Jal Manthan 3)

Author:इंडिया वाटर पोर्टल (हिंदी)


जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा 13 जनवरी, 2017 को विज्ञान भवन मौलाना आजाद रोड, नई दिल्ली में जल मंथन-3 का आयोजन किया गया है।

मंत्रालय जल मंथन-3 के अवसर पर आपको सादर आमंत्रित करता है। जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री सुश्री उमा भारती 13 जनवरी, 2017 को प्रातः 9:30 बजे कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगी। इस अवसर पर जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण राज्य मंत्री एवं माननीय युवा कार्यक्रम एवं खेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री विजय गोयल तथा डॉ. संजीव कुमार बालियान माननीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण राज्य मंत्री की गरिमामयी उपस्थिति रहेगी।

 

 

सौजन्य से :-


महानिदेशक, एनडब्ल्यूडीए
26519164, 26852735

 

 

 

 

कार्यक्रम अनुसूची


जल मंथन-3, विज्ञान भवन, नई दिल्ली

13 जनवरी, 2017

 

 

 

 

माननीय मंत्री (ज.सं., न.वि. और गं.सं.) द्वारा उद्घाटन (9:30 से 10:00)

जलपान- 10:00 से 10:30 बजे तक

तकनीकी सत्र 1कः

विषयः

10:30 से 12:30 बजे तक

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना का कार्यान्वयन और जल उपयोग दक्षता में सुधार

तकनीकी सत्र 1कः

विषयः

10:30 से 12:30 बजे तक (समानांतर सत्र)

पर्यावरण सुधार

तकनीकी सत्र 2कः

विषय

12:30 से 14:00 बजे तक

सहभागी सिंचाई प्रबंधन

तकनीकी सत्र 2खः

विषयः

12:30 से 14:00 बजे तक (समानांतर सत्र)

नदी बेसिन प्रबंधन

लंच ब्रेक - 14:00 से 14:30 बजे तक

तकनीकी सत्र 3कः

विषयः

14:30 से 16:00 बजे तक

नदी पुनरुद्धार

तकनीकी सत्र 3खः

विषयः

14:30 से 16:00 बजे तक (समानांतर सत्र)

बाढ़ प्रबंधन

समापन सत्रः

16:00 से 16:45 बजे तक

हाई टी 16:45 बजे

 

Latest

कैसे प्रदूषण से किसी देश की अर्थव्यवस्था हो सकती है तबाह

भारत में क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस

वायु प्रदूषण कम करने के लिए बिहार बना रहा है नई कार्ययोजना

3.6 अरब लोगों पर पानी का संकट,भारत भी प्रभावित: विश्व मौसम विज्ञान संगठन

अब गंगा में प्रदूषण फैलाना पड़ेगा महंगा!

बीएमसी ने पानी कटौती की घोषणा की; प्रभावित क्षेत्रों की पूरी सूची देखें

देहरादून और हरिद्वार में पानी की सर्वाधिक आवश्यकता:नितेश कुमार झा

भारतीय को मिला संयुक्त राष्ट्र का सर्वोच्च पर्यावरण सम्मान

जल दायिनी के कंठ सूखे कैसे मिले बांधों को पानी

मुंबई की दूसरी सबसे बड़ी झील पर बीएमसी ने बनाया मास्टर प्लान