जल सत्याग्रह : किसानों के आगे झुकी सरकार

Author:आज तक
Source:आज तक, 10 सितंबर 2012

नर्मदा नदी पर बने ओंकारेश्वर और इंदिरा सागर बांध के विस्थापितों द्वारा किए जा रहे जल सत्याग्रह के आगे सरकार को झुकना पड़ा। मध्य प्रदेश सरकार ने विस्थापितों की मांग मान ली है। खंडवा के किसानों ने सीएम शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात की। चौहान ने किसानों को आश्वासन दिया है कि ओंकारेश्वर बांध का वॉटर लेवल 189 मीटर किया जाएगा। दरअसल खंडवा जिले में नर्मदा नदी पर बने ओंकारेश्वर बांध में इस बार पिछले साल की तुलना में अधिक पानी भरा जा रहा है। इस बांध का जलस्तर पहले 189 मीटर था, जिसे बढ़ाकर 190.5 मीटर तक पानी भरा जा चुका है। इससे घोघलगांव सहित 30 गांवों के डूबने का खतरा बना हुआ है। इसी के विरोध में किसान पानी में डूब कर प्रदर्शन कर रहे थे। मध्य प्रदेश के सीएम ने किसानों के मुलाकात के बाद ऐलान किया कि चार मंत्रियों समेत 5 सदस्यों की उच्च स्तरीय कमिटी किसानों की दूसरी मांगों पर विचार करेगी। GRA (Grievance Redressal ऑथोरिटी) यानि जमीन के बदले जमीन देने के मामले में GRA के फैसले का पालन होगा। फैसला ये हुआ कि जो लोग अपना मुआवजा और विशेष अनुदान पैकेज वापिस करेंगे, उनको सरकार के लैंड बैंक से 90 दिन के अंदर जमीन देगी।