काला पानी क्या है,क्यों बढ़ रहा है इसका क्रेज

Author:देव चौहान

कहा ये  जाता है कि पानी का कोई रंग नहीं होता है. लेकिन, आजकल बाजार में काले रंग का पानी भी उपलब्ध  है, जो दिखने में  वाकई मे काला होता है लेकिन हेल्थ के लिए यह  काफी लाभ वाला होता  है काला पानी को देखे तो वह फिटनेस के रूप मे देखे तो काफी हेल्थी  माना जाता है। इसे अल्काइन वॉटर भी कहा जाता हैं। जो हमारे शरीर को हाइड्रेट रखता है।इस पानी का पीएच लेवल बेहद कम होता है जिससे एसिडिटी के अलावा  पेट से जुड़ी कोई भी समस्या नहीं होती है। इस पानी पीने से इम्युनिटी बूस्ट होती है। और हमारा शरीर एकदम  फीट रहता है। 

काला पानी जिसे विज्ञान की शब्दावली में एल्काइन वॉटर कहा जाता हैं। जिसे हेल्थ ड्रिंक, नेचुरल एल्कालाइन वॉटर के अलावा फ्युलविक ड्रिंक भी कहा जाता है। वही एक आम आदमी देश में पानी पीने के लिए लगभग 30 रूपए की कीमत चुकाता है, तो वही देश के कई  हिस्सों में पानी तकरीबन 50 रूपए लीटर भी मिलता है।मलाइका अरोरो, क्रिकेटर विराट कोहली समेत कई सेलेब्रिटीज भी अपनी फिटनेस के लिए इसका इस्तेमाल करते है। 

आखिर मे यह नेचुरल पानी इसलिए काला दिखता है, क्योंकि पानी को साफ रखने के लिए मिनरल्स का इस्तेमाल किया जाता है। वही लगभग  70 फीसदी मिनरल्स पानी में इस्तेमाल  किए जाते हैं जिस वजह से पानी काला दिखाई  देने लगता है।

Latest

भारत में क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस

वायु प्रदूषण कम करने के लिए बिहार बना रहा है नई कार्ययोजना

3.6 अरब लोगों पर पानी का संकट,भारत भी प्रभावित: विश्व मौसम विज्ञान संगठन

अब गंगा में प्रदूषण फैलाना पड़ेगा महंगा!

बीएमसी ने पानी कटौती की घोषणा की; प्रभावित क्षेत्रों की पूरी सूची देखें

देहरादून और हरिद्वार में पानी की सर्वाधिक आवश्यकता:नितेश कुमार झा

भारतीय को मिला संयुक्त राष्ट्र का सर्वोच्च पर्यावरण सम्मान

जल दायिनी के कंठ सूखे कैसे मिले बांधों को पानी

मुंबई की दूसरी सबसे बड़ी झील पर बीएमसी ने बनाया मास्टर प्लान

जल संरक्षण को लेकर वर्कशॉप का आयोजन