लापोड़िया

Author:लोकसभा टीवी
Source:लोकसभा टीवी, 25 फरवरी 2014


जयपुर-अजमेर राजमार्ग पर दूदू से 25 किलोमीटर की दूरी पर राजस्थान के सूखाग्रस्त इलाके का एक गांव है - लापोड़िया। यह गांव ग्रामवासियों के सामूहिक प्रयास की बदौलत आशा की किरणें बिखेर रहा है। धरती की पुकार को किसी ने सुना या ना सुना हो..... लेकिन लापोड़िया गांव के लोगों ने जरूर सुना है।बात उन दिनों की है जब यह पूरा इलाका लगातार तीन साल से अकाल की चपेट में था। लोग अपने जानवरों के साथ अपने-अपने गांव छोड़कर जा रहे थे। इस तरह गांव के गांव खाली होते जा रहे थे। लेकिन 189 परिवार वाले लापोड़िया गांव के लोगों के दिमाग में तो कुछ और ही चल रहा था। गांव के कुछ नौजवान इक्कठा हुए और लोगों को भी इक्कठा किया। जी जान से मेहनत की और अपने गांव ही नहीं आसपास के गांव की भी तस्वीर बदल डाली। लापोड़िया गांव के लोगों द्वारा हुए इस सामुहिक प्रयास पर आधारित एक लघु फिल्म।

Latest

बीएमसी ने पानी कटौती की घोषणा की; प्रभावित क्षेत्रों की पूरी सूची देखें

देहरादून और हरिद्वार में पानी की सर्वाधिक आवश्यकता:नितेश कुमार झा

भारतीय को मिला संयुक्त राष्ट्र का सर्वोच्च पर्यावरण सम्मान

जल दायिनी के कंठ सूखे कैसे मिले बांधों को पानी

मुंबई की दूसरी सबसे बड़ी झील पर बीएमसी ने बनाया मास्टर प्लान

जल संरक्षण को लेकर वर्कशॉप का आयोजन

देश की जलवायु की गुणवत्ता को सुधारने में हिमालय का विशेष महत्व

प्रतापगढ़ की ‘चमरोरा नदी’ बनी श्रीराम राज नदी

मैंग्रोव वन जलवायु परिवर्तन के परिणामों से निपटने में सबसे अच्छा विकल्प

जिस गांव में एसडीएम से लेकर कमिश्नर तक का है घर वहाँ पानी ने पैदा कर दी सबसे बड़ी समस्या