मीडिया महोत्सव-2020

गत वर्षों की भांति इस बार भी 22-23 फरवरी, 2020 (शनिवार-रविवार, चतुर्दशी-अमावस्या, कृष्ण पक्ष, माघ, विक्रम संवत 2076) को “भारत का अभ्युदय : मीडिया की भूमिका” पर केन्द्रित “मीडिया महोत्सव-2020” का आयोजन भोपाल में होना सुनिश्चित हुआ है l इस महोत्सव में पांच चौपाल – संपादक चौपाल, लेखक चौपाल, डिजिटल मीडिया चौपाल, परम्परागत मीडिया चौपाल एवं जन-संवाद चौपाल के साथ ही CSR चौपाल का आयोजन होगा l इसके साथ ही परिवार चौपाल एवं व्यंजन व मनोरंजन चौपाल भी होगा। इन विविध चौपालों एवं विभिन्न चर्चा सत्रों में “भारत अभ्युदय” के विविध आयामों – विश्व में भारतीय नैरेटिव की स्थापना और मीडिया की भूमिका, ग्रामीण अभ्युदय, सांस्कृतिक-आध्यात्मिक अभ्युदय, आर्थिक-राजनीतिक अभ्युदय, ज्ञान-विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी अभ्युदय आदि विषयों पर विमर्श होगा l

हम ‘’भारतीय नैरेटिव की विश्व में स्थापना : मीडिया की भूमिका, वैदिक संस्कृति का सनातन प्रवाह और जन-जातीय संस्कृति, राष्ट्रीय समस्याएं और संचारकों की भूमिका, कैसा हो भारत का संचार’’ जैसे विषयों पर आपके साथ विचार साझा करना चाहते
हैं l

विदित हो कि मीडिया और समाज के संबंधों की बेहतरी के लिए वर्ष 2012 में मीडिया चौपाल की शुरुआत हुई थी l तब से अब तक भोपाल (2012-13), दिल्ली (2014), ग्वालियर (2015), हरिद्वार (2016), चित्रकूट (2017) और भोपाल (2018) में आयोजित होता रहा है l इस बार और अधिक विस्तृत, व्यापक और प्रभावी रूप में आयोजन की योजना है l संचारकों के नेटवर्किंग, क्षमता संवर्धन और सशक्तिकरण के साथ ही मीडिया का भारतीयकरण व मानवीयकरण, समाजीकरण और सकारात्मकता मीडिया महोत्सव का प्रमुख उद्देश्य है l दो दिवसीय मीडिया महोत्सव 5 चौपालों, लगभग 8 विमर्श सत्रों, मीडिया प्रदर्शनी, मीडिया प्रतियोगिता और मीडिया कन्सर्ट और व्यंजन उत्सव के साथ अगले पड़ाव के लिए विराम लेगा l

अत: आप सभी से अनुरोध है कि गत वर्षों की भांति पुन: अपनी महत्वपूर्ण उपस्थिति दर्ज कर महोत्सव को सफल बनाएं।

मीडिया महोत्सव में पंजीयन हेतु दी गई लिंक पर क्लिक करें।

Latest

गंगा का पानी प्लास्टिक और माइक्रोप्लास्टिक से प्रदूषित, अध्ययन में पता चला

शेरनी:पर्यावरण और वन्यजीव संरक्षण पर ध्यान आकर्षित करने का प्रयास

जलवायु परिवर्तन के संकट से कैसे लड़ रहे है पहाड़ के किसान

यूसर्क द्वारा “वाटर एजुकेशन लेक्चर सीरीज” के अंतर्गत “जल स्रोत प्रबंधन के सफल प्रयास पर ऑनलाइन कार्यक्रम का आयोजन

वर्ल्ड एक्वा कांग्रेस 15वाँ अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन

कोविड-19 के जोखिम को बढ़ा सकता है जंगल की आग से निकला धुआं: अध्ययन 

गौरैया को मिल गया नया आशियाना

गंगा की अविरलता और निर्मलता को स्थापित करने के लिये वर्चुअल मीटिंग का आयोजन 

चरखा ने "संजॉय घोष मीडिया अवार्ड्स 2020" सम्मान समारोह का किया आयोजन

पर्यावरण संरक्षण, खुशहाली और समृद्धि का प्रतीक है हरेला