मोक्षदायिनी को निर्मल रहने दो

Author:गंगा सेवा मिशन
Source:गंगा सेवा मिशन
लखनऊः 11 दिसम्बर- मोक्षदायिनी गंगा को निर्मल रहने दो, इस संकल्प के साथ गंगा सेवा मिशन के कार्यकर्ताओं ने 11 दिसंबर को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शंखनाद किया। मिशन के कार्यकर्ताओं ने गंगा चेतना पदयात्रा निकाली, जिसमें सैकड़ों लोगों ने भाग लिया। पदयात्रा का नेतृत्व मिशन के अध्यक्ष स्वामी आनंद स्वरूप जी ने की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि गंगा की अविरलता और पवित्रता कायम रखने के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा।

पदयात्रा जीपीओ पार्क से मुख्य हजरतगंज चौराहा, साहू सिनेमा मार्ग, हलवासिया तिराहा, डीएम आवास, परिवर्तन चौक होती हुई करीब घंटे भर बाद शनि मंदिर पहुंची। इसमें शामिल गंगा भक्त ‘गंगा को निर्मल रहने दो, गंगा को अविरल बहने दो’ आदि नारे के साथ बैनर-पोस्टर लिए चल रहे थे। गोमती तट पहुंचने पर लोगों ने स्वामी आनंद स्वरूप जी के साथ सफाई अभियान चलाया। घंटा भर चले इस अभियान में कई टन गाद और कचड़े निकले। इसके बाद गोमती की सप्त महाआरती की गई। स्वामी आनंद स्वरूप जी ने कहा कि गंगा सेवा मिशन के कार्यकर्ता 23 मार्च को दिल्ली में महाउपवास करेंगे। इससे पहले देश भर में 101 पद यात्राएं निकाली जाएंगी। इसका मुख्य उद्देश्य गंगा को बांध, सीवर व नहर मुक्त बनाना है। पदयात्रा में मोहित पांडेय, डॉक्टर मनोज मिश्र, बाबा रामदास, नीलिमा सिंह, मिशन के प्रदेश अध्यक्ष एसपी सिंह, राधेश्याम, ताराचंद मोर, डॉक्टर प्रमोद मिश्र आदि भी शामिल हुए।