नारायणबगड़ में बादल फटा कुमाऊँ में दो लोगों की मौत

Author:अमर उजाला
Source:अमर उजाला, 03 मई 2018

उत्तरकाशी जिले में जगह-जगह भूस्खलन होने से गंगोत्री एवं यमुनोत्री राजमार्ग करीब चार घंटे अवरुद्ध रहा। हालांकि बीआरओ और राजमार्ग खंड द्वारा जल्द ही मलबा हटाकर यातायात बहाल कर दिया गया। जौनसार बावर में तीन घरों की छत उड़ने के साथ ही 74 गाँवों की बत्ती गुल हो गई। उधर, देहरादून में कई जगह पेड़ गिरने से यातायात बाधित रहा। कई होर्डिंग्स और दुकानों के बोर्ड हवा में उड़ गए।

गढ़वाल/कुमाऊँ। मौसम ने प्रदेश भर में बुधवार को खूब कहर बरपाया। चमोली जिले के नारायणबगड़ कस्बे में बादल फटने से कई दुकानें मलबे से पट गईं। इस दौरान कई वाहन भी मलबे में दब गए। गाड़-गदेरों में उफान आने से दर्जनों वाहन फँस गए। मौसम के रौद्र रूप से कस्बे में दो घंटे तक अफरा-तफरी का माहौल रहा। उधर कुमाऊँ में दो लोगों की मौत हो गई।

उत्तरकाशी जिले में जगह-जगह भूस्खलन होने से गंगोत्री एवं यमुनोत्री राजमार्ग करीब चार घंटे अवरुद्ध रहा। हालांकि बीआरओ और राजमार्ग खंड द्वारा जल्द ही मलबा हटाकर यातायात बहाल कर दिया गया। जौनसार बावर में तीन घरों की छत उड़ने के साथ ही 74 गाँवों की बत्ती गुल हो गई। उधर, देहरादून में कई जगह पेड़ गिरने से यातायात बाधित रहा। कई होर्डिंग्स और दुकानों के बोर्ड हवा में उड़ गए।

दून में आँधी की रफ्तार 70 से 80 किमी प्रति घंटा बताई गई है। डिफेंस कॉलोनी में सीएम निवास के पास सड़क पर एक बड़ा पेड़ गिर गया। एफआरआई परिसर में पेड़ गिरने से दीवार टूट गई। गाँधी इंटर कॉलेज के पास कार पर टिन शेड गिर गई। आँधी से कई मोहल्लों में बत्ती गुल हो गई। उधर, ऋषिकेश में महिला समेत तीन लोग जख्मी हो गए। मसूरी में तेज आँधी के बीच करीब 20 मिनट जमकर ओले बरसे। डोईवाला में भी पेड़ गिरने से कई जगह विद्युत लाइनें क्षतिग्रस्त हो गईं।

उधर रुड़की शहर में मलकपुर चुंगी के पास छज्जा गिरने से एक व्यक्ति गम्भीर रूप से घायल हो गया। हरिद्वार में भी कई जगह पेड़ गिरे। काशीपुर में आँधी के दौरान दोमंजिले मकान से ईंट गिरने से नौ वर्षीय बालक तो चितई में पेड़ की चपेट में आने से युवक की मौत हो गई। पूरे कुमाऊँ में पेड़ गिरने से उनकी चपेट में आकर कई लोग घायल हो गए, जबकि कई वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। हल्द्वानी में पेड़ों के गिरने की घटनाओं में एक महिला समेत तीन लोग गम्भीर रूप से घायल हो गए। पिथौरागढ़, डीडीहाट, मुनस्यारी और चम्पावत में तेज अंधड़ से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया।

चम्पावत, अल्मोड़ा और माल रोड में एमईएस गेट के पास एक विशालकाय पेड़ सड़क पर गिर गया, जिससे माल रोड बन्द हो गई। पेड़ गिरने से एक व्यक्ति घायल हो गया। तूफान से विद्युत आपूर्ति ठप हो गई।

24 घंटे रहेंगे भारी

मौसम विभाग ने अभी 24 घंटे और बारिश के अलावा तेज आँधी की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि बृहस्पतिवार को प्रदेश भर में बादल छाये रहेंगे। प्रदेश के कई हिस्सों में तेज गर्जन के साथ बारिश हो सकती है। राजधानी में भी बादल छाये रहेंगे। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश भर में 70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से तेज आँधी के साथ ही ओले भी पड़ सकते हैं।