शहर ग्रीन करो, इट्स अवर टर्न टू लीड

Author:इंडिया वाटर पोर्टल (हिन्दी)
Source:इंडिया वाटर पोर्टल (हिन्दी
.22 अप्रैल, 2015 को 45वां पृथ्वी दिवस मनाया जा रहा है। इस वर्ष का अन्तरराष्ट्रीय नारा है- शहर ग्रीन करो, ये हमारी जिम्मेदारी है।

भारत में पृथ्वी दिवस के अवसर पर देश के 45 शहरों में प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता का शीर्षक होगा शहर ग्रीन करो, इट्य अवर टर्न टू लीड।

प्रतियोगिता के अन्तर्गत देशभर में हर व्यक्ति अपने शहर को ‘स्वच्छ’ और ‘हरा’ बनाने का प्रयास कर सकता है। सभी श्रेष्ठ प्रयासों को अर्थ डे नेटवर्क द्वारा सम्मानित किया जाएगा। हमारे द्वारा पर्यावरण के लिए किया गया एक छोटा सा प्रयास भी बहुत महत्वपूर्ण होता है।इसी वजह से जो भी व्यक्ति अपने शहर को हरा-भरा और स्वच्छ बनाने का प्रयास करेंगे, उससे उनका शहर हरा-भरा और रहने लायक बन सकेगा। आप विभिन्न प्रकार के कार्य कर सकते हैं जैसे- शहरों का प्रदूषण कम करना, संसाधनों का उचित इस्तेमाल (विशेषतः पानी), हरियाली को बढ़ावा देना, कचरे का ठीक प्रकार से निस्तारण, ट्रैफिक को कम करना और अक्षय ऊर्जा स्रोतों की तरफ ज्यादा-से-ज्यादा लोगों का ध्यान आकर्षित करना, विद्यालय के बच्चों को वृक्षारोपण और साफ-सफाई के लिए प्रोत्साहित करना या फिर अपनी सामर्थ्य के अनुसार पृथ्वी दिवस से सम्बन्धित कुछ आलेख लिखना आदि।

भारत के 45 शहरों में पृथ्वी दिवस का आयोजन किया जाएगा। ये शहर है: आगरा, अहमदाबाद, इलाहाबाद, अमृतसर, औरंगाबाद, बंगलुरू, भोपाल, चण्डीगढ़, चेन्नई, कोयम्बटूर, दिल्ली, धनबाद, इन्दौर, जयपुर, जमशेदपुर, जोधपुर, कानपूर, कोच्ची, कोलकाता, कोटा, कोझीकोड़, लखनऊ, लुधियाना, मदुरै, मेरठ, मुम्बई, नागपुर, नासिक, पटना, पुणे, रायपुर, राजकोट, राँची, श्रीनगर, सूरत, तिरुवनन्तपुरम, वड़ोदरा, वाराणसी, विजयवाड़ा और विशाखापट्टनम। आइए हम मिलकर अपने शहरों को रहने लायक बनाने में सहयोग करें।

अपने शहर को हरा-भरा और स्वच्छ बनाने के लिए आपने जो भी प्रयास 15 फरवरी से 31 मार्च तक किए हों उन्हें हमें बताइए। सर्वश्रेष्ठ कार्यों को पृथ्वी दिवस के मौके पर पुरस्कृत किया जाएगा। कृपया अपनी प्रविष्टियाँ 30 मार्च तक भेजने की कृपा करें। प्रविष्टियों को नामांकित कराने के लिए फोटोग्राफ अवश्य भेजें। अधिक जानकारी के लिए दिए गए फोन नम्बर पर सम्पर्क कर सकते हैं। अपनी प्रविष्टियाँ नीचे लिखे सम्पर्क पर भेजे:

जो भी व्यक्ति या संस्थाएँ इस अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन करना चाहते हैं, बैनर के लिये लोगो लेने के लिये कृपया नीचे दिए गए नम्बरों पर सम्पर्क करें।

मीनाक्षी अरोड़ा
वेबसाइट : hindi.indiawaterportal.org
मोबाइल: 9654341225, 9250725116
ई-मेल: minakshi@indiawaterportal.org


Latest

गुजरात के विश्वविद्यालय ने वर्षा जल को सरंक्षित करने का नायाब तरीका ढूंढा 

‘अपशिष्ट जल से ऊर्जा बनाने में अधिक सक्षम है पौधा-आधारित माइक्रोबियल फ्यूल सेल’: अध्ययन

15वें वित्त आयोग द्वारा ग्रामीण स्थानीय निकायों को जल और स्वच्छता के लिए सशर्त अनुदान

गंगा किनारे लोगों के घर जब डूबने लगे

ग्रामीण स्थानीय निकायों को 15वें वित्त आयोग का अनुदान और ग्रामीण भारत में जल एवं स्वच्छता क्षेत्र पर इसका प्रभाव

जल संसाधन के प्रमुख स्त्रोत क्या है

बाढ़ की तबाही के बीच स्त्रियों की समस्याएं

अनदेखी का शिकार: शुद्ध जल संकट का स्थायी निदान

महाराष्ट्र एक्वीफर मैपिंग द्वारा जलस्रोत स्थिरता सुनिश्चित करना 

बिहार में जलवायु संकट से बढ़े हीट वेव से निपटने का बना एक्शन प्लान