समुद्र से जुड़े ज्ञान से भरपूर रोचक तथ्य

Author:देव चौहान

आज हम आपको समुद्र से जुड़ी कुछ दिलचस्प जानकारियां देंगे कि आखिर समुद्र कैसे बने,समुद्र की गहराई कैसे मापते है ,समुद्र का पानी आखिर क्यों होता है खारा,तालाबो की तरह क्यों नही सड़ता समुद्र का पानी और भी बहुत कुछ। 

 

  • समुद्र का जन्म धरती की सतह में स्तिथ  पानी से भरे विशाल गढ्डे से हुआ दरअसल जब पृथ्वी  का जन्म हुआ तो वह एक आग का गोला था पृथ्वी जब ठंडी होने लगी तो उसके चारों ओर गैस के बादलों का निर्माण हुआ ठंड होने से ये बादल काफी भर गए और उनसे लगातार बारिश होने लगी और धरती ठंडी होने पर वो विशाल गढ्डे भरने लगे और फिर निर्माण हुआ बड़े बड़े समुद्रों और महासागर का। 

 

  • समुद्र बेहद गहरे होते है कोई भी इंसान इसके तल तक जाकर इजकी गहराई नही माप सकता इसलिए इसकी गहराई को मापने के लिए  sound waves का इस्तेमाल किया जाता है जिसे ध्वनि तरंग कहते है इस यंत्र को पानी के जहाज पर लगा दिया जाता है जो अल्ट्रासोनिक तरंगे पैदा करती है इस यंत्र को फादोमीटर कहते हैं तरंगो को कान से नही सुना जा सकता इन तरंगो को समुद्र के अंदर भेजा जाता है और ये उसके तल से टकराकर जब वापिस आती है तो गहराई का अनुमान लगाया जाता है

 

  • समुद्र का पानी आखिर क्यों खारा यानी नमकीन होता है दरअसल धरती की सतह पर अन्य खनिजो के साथ साथ नमक भी  होता है जो बारिश के पानी के साथ घुलकर नदियों कर माध्यम से समुद्र तक पहुचता है और बाद में समुद्र से भाप बनकर पानी तो वायुमंडल में पहुच जाता है लेकिन नमक वही एह जाता है तो हैना दिलचस्प कहानी नमक के निर्माण की समुद्र में

 

  • समुद्र का पानी क्यों नही सड़ता तालाबो की तरह या नदियों की तरह समुद्र का पानी नहीं सड़ता जबकि उसमें रोज़ हजारो की संख्या में जीव मरते है और दुनिया भर का कचरा भी इसमें जाता है इसका एक मुख्य कारण है कि समुद्र में मछलियां और अन्य जलीय जीव होते है इसके अलावा अमीबा और बैक्टीरिया भी होते है जिनका भोजन मारे हुए जीव और सड़े हुए पौधे होते है ये इन्हें खाकर ही समुद्र को स्वच्छ बनाए रखने में आना योगदान देते है

 

  • अब बात करेंगे समुद्र में दिशा की यानी direction की समुद्र में शुरुआती दौर में दिशा का पारा लगाने के लिए सूर्य  और तारों की मदद ली जाती थी बाद में टेक्नोलॉजी विकसित हुई और प्राकृतिक चुम्बक को दिशा पता लगातर के लिए इस्तेमाल किया गया वो कैसे वो ऐसे की एक पानी के कटोरे में लकड़ी या कॉर्क के टुकड़े तैराए जाते थे और उनपर चुम्बकीय पत्थर के टुकड़े रख दिये जाते थे और इन चुम्बकों के सिरे हमेशा नार्थ साउथ दिशा में ही रहते थे जिससे दिशा का ज्ञान आसानी से हो जाता था

 

  • समुद्र में लहरे क्यों उठती है ये सवाल कई लोगो के जहन में होगा दरसल ये घटना नेचुरल है यानी स्वाभाविक है समुद्र में लहरे उठने के लिए चंद्रमा जिम्मेदार है इसके ग्रैविटेशनल फ़ोर्स से पृथ्वी के ठोस भाग में तो परिवर्तन नही होता लेकिन समुद्र के पानी मे उतार चढ़ाव अवश्य देखने को मिलता है ये एक किस्म की खगोलीय घटना है जिसका असर हमे पृथ्वी पर समुद्र में देखने को मिलता है तो ये थी आज की समुद्र से जुड़ी कुछ बेहद रोचक  जानकारियां

Latest

गंगा का पानी प्लास्टिक और माइक्रोप्लास्टिक से प्रदूषित, अध्ययन में पता चला

शेरनी:पर्यावरण और वन्यजीव संरक्षण पर ध्यान आकर्षित करने का प्रयास

जलवायु परिवर्तन के संकट से कैसे लड़ रहे है पहाड़ के किसान

यूसर्क द्वारा “वाटर एजुकेशन लेक्चर सीरीज” के अंतर्गत “जल स्रोत प्रबंधन के सफल प्रयास पर ऑनलाइन कार्यक्रम का आयोजन

वर्ल्ड एक्वा कांग्रेस 15वाँ अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन

कोविड-19 के जोखिम को बढ़ा सकता है जंगल की आग से निकला धुआं: अध्ययन 

गौरैया को मिल गया नया आशियाना

गंगा की अविरलता और निर्मलता को स्थापित करने के लिये वर्चुअल मीटिंग का आयोजन 

चरखा ने "संजॉय घोष मीडिया अवार्ड्स 2020" सम्मान समारोह का किया आयोजन

पर्यावरण संरक्षण, खुशहाली और समृद्धि का प्रतीक है हरेला