विश्व वेटलैण्ड दिवस

Author:जनसत्ता
Source:जनसत्ता, 02 फरवरी 2015
विश्व वेटलैण्ड दिवस 2 फरवरी 2015

तो आइए हम सब मिलकर सरकार के प्रयास को सफल बनाने में सहयोगी एवं सहभागी बनें तथा प्राकृतिक सौंदर्य बढ़ाने के साथ पर्यावरण का भी संरक्षण करें।

सन्देश


मुझे यह जानकर अत्यन्त प्रसन्नता हुई कि दिनांक 2 फरवरी, 2015 को “विश्व वेटलैण्ड दिवस” के अवसर पर वेटलैण्ड्स के संरक्षण व संवर्धन हेतु व्यापक जन चेतना उत्पन्न करने के लिए वन विभाग द्वारा विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।

वेटलैण्ड्स प्राकृतिक सौन्दर्य बढ़ाने के साथ ही पर्यावरण संरक्षण में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। प्रवासी व स्थानीय पक्षियों सहित विभिन्न प्रकार के वन्य जीवों, कीट पतंगों एवं वनस्पतियों का वासस्थल होने के कारण वेटलैण्ड्स सहज रूप से पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। भूगर्भ जल स्तर में वृद्धि, जल को प्रदूषण मुक्त करने बाढ़ नियन्त्रण एवं जल की गुणवत्ता बनाए रखने में वेटलैण्डस की भूमिका और भविष्य में जल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के दृष्टिगत विश्व वेटलैण्ड दिवस, 2015 की विषय वस्तु “हमारे भविष्य के लिए वेटलैण्ड्स” (Wetlands for our future) अत्यन्त प्रासंगिक है।

विश्व वेटलैण्ड दिवस के अवसर पर प्रदेशवासियों से अनुरोध है कि नदियों, तालाबों, झीलों सहित सभी प्रकार के वेटलैण्ड्स को प्रदूषण, भू-उपयोग परिवर्तन, अतिक्रमण एवं संकुचन से बचाने के प्रदेश सरकार के प्रयास में सहभागी व सहयोगी बनकर राज्य को विकास पथ पर ले जाने के प्रयासों को सुदृढ़ करें।

“विश्व वेटलैण्ड दिवस” के अवसर पर आयोजित कार्क्रमों की सफलता हेतु मेरी हार्दिक शुभकामनाएँ।
(अखिलेश यादव)

वन एवं वन्य जीव संरक्षण की दिशा में प्रमुख उपलब्धियाँ

वर्ष 2014-15 में 75 जनपदों में 19.40 लाख पौधों का रोपण कर 520 हरित पट्टियाँ विकसित की गई।
वर्ष 2014-15 में कन्नौज जनपद में रौसा वन ब्लॉक में 450 एकड़ क्षेत्र में 1,12,500 पौधों का रोपण किया गया।
इटावा में लॉयन सफारी व बब्बर शेर प्रजनन केन्द्र की स्थापना।
वन्य प्राणियों द्वारा मनुष्यों व फसलों को क्षति पहुँचाए जाने की स्थिति में दी जाने वाली अनुग्रह धनराशि में वृद्धि।
कुकरैल वन खण्ड लखनऊ में जैवविविधता केन्द्र की स्थापना के प्रथम चरण में सुरक्षा दीवार का निर्माण।
वन्य जीव व उनके प्राकृतवास संरक्षण हेतु पीलीभीत वन्य जीव विहार की स्थापना।
राष्ट्रीय पशु बाघ के संरक्षण एवं संवर्धन हेतु पीलीभीत टाइगर रिजर्व की स्थापना।

वन विभाग, उत्तर प्रदेश