वन्य जीव संरक्षण: हादसों को रोकने के लिए सरकार बनाएगी वन्यजीव कॉरिडोर

वन्य जीव संरक्षण,फोटो-India water portal flicker

केंद्रं सरकार रेलवे पटरियों पर वन्यजीव गलियारे स्थापित करने की योजना बना रही है। योजना के तहत लगभग 100 सड़कों पर गलियारे बनाए जा सकते है ,जहां बाघों और वन्यजीवों का आना-जाना लगा रहता है। केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने इस संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि उन्होंने इस बारे में अधिकारियों वन्यजीव कॉरिडोर शुरू करने के निर्देश दिए है ।

जंगली जानवर अक्सर ट्रैक पार करते समय ट्रेन की चपेट में आने से मारे जाते हैं या घायल हो जाते हैं। इस मुद्दे पर 17 अगस्त को रेल मंत्री की अध्यक्षता में चर्चा हुई थी। लेकिन चर्चा को लेकर ज्यादा जानकारी सामने नहीं आई है. चर्चा में वन विभाग के अधिकारी भी शामिल हुए।

विदर्भ क्षेत्र में ऐसी स्थिति है जहां बाघों को लगातार ट्रेनों के चपेट में आने से  मौत हो जाती है। इसके बाद पर्यावरणविदों और संगठनों ने सीधे केंद्रीय मंत्री से संपर्क किया और समाधान मांगा। जानकारों की ये भी राय है कि करीब 100 जगहों पर इस तरह के कॉरिडोर बनाकर हादसों को कम किया जा सकता है।

देहरादून में भारतीय वन्यजीव संस्थान के अधिकारियों को एक महीने के भीतर ऐसी जगहों का पता लगाने का निर्देश दिया गया है। रेलवे अधिकारियों को दुर्घटनाओं को कम करने के लिए कार्रवाई पर प्रशिक्षण प्रदान करने का भी प्रस्ताव है। अश्वनी वैष्णव ने कहा कि अगर यह तरीका काम नहीं करता है तो रेलवे ट्रैक को वन्यजीवों के अनुकूल बनाने के लिए अन्य तकनीकों का पता लगाया जाएगा ।

Latest

भारत में क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस

वायु प्रदूषण कम करने के लिए बिहार बना रहा है नई कार्ययोजना

3.6 अरब लोगों पर पानी का संकट,भारत भी प्रभावित: विश्व मौसम विज्ञान संगठन

अब गंगा में प्रदूषण फैलाना पड़ेगा महंगा!

बीएमसी ने पानी कटौती की घोषणा की; प्रभावित क्षेत्रों की पूरी सूची देखें

देहरादून और हरिद्वार में पानी की सर्वाधिक आवश्यकता:नितेश कुमार झा

भारतीय को मिला संयुक्त राष्ट्र का सर्वोच्च पर्यावरण सम्मान

जल दायिनी के कंठ सूखे कैसे मिले बांधों को पानी

मुंबई की दूसरी सबसे बड़ी झील पर बीएमसी ने बनाया मास्टर प्लान

जल संरक्षण को लेकर वर्कशॉप का आयोजन