पानी भर कर लाने में महिलाओं के बर्बाद हो रहे हैं 20 करोड़ घंटे

राष्ट्रीय महिला आयोग की रिपोर्ट के अनुसार भारत मे पीने के पानी के स्रोत तक पहुंचने के लिए महिलाएं अभी भी  2.5 किमी तक पैदल चलकर जाती हैं ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाएं अपने परिवार के लिए पीने का  पानी लाने में औसतन दिन में 3-4 घंटे खर्च करती हैं भारत के ग्रामीण क्षेत्रों में, लगभग 15.7 करोड़ घर ऐसे हैं जिनके यहाँ नल के पानी का कनेक्शन नहीं है इस वजह से कई इलाकों में  लड़कियों और महिलाओं को पानी लाने के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ती है। ...... देखें पूरा वीडियो 

 

 

ये भी पढ़े :-  हिमस्खलन आपदा और उससे बचाव के उपाय (Avalanche disaster and its prevention methods in Hindi)

ये भी पढ़े :- क्या क्रीमिया “जल संकट” ने रूस-यूक्रेन तनाव में नया मोर्चा खोला

ये भी पढ़े :- 2.5 एकड़ जमीन से दस-बारह लाख रु. की सालाना आमदनी!

ये भी पढ़े:-  सूचना के अधिकार के तहत कुछ सैम्पल आवेदन (How to write RTI application in Hindi - Some Sample)

ये भी पढ़े:-  भारत ने दो और रामसर स्थलों को जोड़ा

ये भी पढ़े:- दुनिया की सबसे स्वच्छ नदी

ये भी पढ़े:-  बांधों पर मंडराता खतरा: टिकाऊ माडल की तलाश