यमुना : संकट में एक प्राचीन पवित्र नदी

Author:यू-ट्यूब
Source:यू-ट्यूब, 19 मार्च 2014


कृष्ण की यमुना, आस्था की यमुना और गंदे काले पानी की यमुना, पवित्र पावन यमुना अब गंदे नाले के रूप में बहती है। हिमालय के यमुनोत्री ग्लेशियर से इलाहाबाद के पवित्र संगम तक 1376 किमी. की यात्रा में अपने जल से लाखों-करोड़ों लोगों को सिंचने वाली यमुना अब तिल-तिल कर मर रही है। पवित्र जल से लेकर एक गंदे नाले के रूप में बहने वाली यमुना पर आधारित एक लघु फिल्म।

Latest

गंगा का पानी प्लास्टिक और माइक्रोप्लास्टिक से प्रदूषित, अध्ययन में पता चला

शेरनी:पर्यावरण और वन्यजीव संरक्षण पर ध्यान आकर्षित करने का प्रयास

जलवायु परिवर्तन के संकट से कैसे लड़ रहे है पहाड़ के किसान

यूसर्क द्वारा “वाटर एजुकेशन लेक्चर सीरीज” के अंतर्गत “जल स्रोत प्रबंधन के सफल प्रयास पर ऑनलाइन कार्यक्रम का आयोजन

वर्ल्ड एक्वा कांग्रेस 15वाँ अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन

कोविड-19 के जोखिम को बढ़ा सकता है जंगल की आग से निकला धुआं: अध्ययन 

गौरैया को मिल गया नया आशियाना

गंगा की अविरलता और निर्मलता को स्थापित करने के लिये वर्चुअल मीटिंग का आयोजन 

चरखा ने "संजॉय घोष मीडिया अवार्ड्स 2020" सम्मान समारोह का किया आयोजन

पर्यावरण संरक्षण, खुशहाली और समृद्धि का प्रतीक है हरेला